webroot com safe

शाहिन बाग खाली करने के बाद, क्या बोले प्रदर्शनकारी?

जब से देश में CAA और NRC कानून लाया गया, तभी से शाहीन बाग में धरना प्रदर्शन शुरू हो गया। 100 दिन से भी अधिक दिनों से हो रहा, ये प्रदर्शन ऐसे तो रुकने का नाम नहीं ले रहा था। लेकिन, कोरोना की खतरे को देखते हुए भारतीय सरकार ने पूरे भारत में संपूर्ण लखनऊ ऐलान किया।

दिल्ली सरकार ने 5 लोगों से ज्यादा भीड़ जमा न करने की अपील की है, इसी बीच 24 मार्च रात 12:00 बजे भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूरे भारत में लाकडाउन की घोषणा की।


इस बीच नागरिकता संशोधनकानून(सीएए) के खिलाफ शहीन बाग में 15 दिसंबर से चल रहा प्रदर्शन को खत्म कर दिया गया है।
पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को वहां से हटाया, जो नहीं मान रहे थे उन्हें गिरफ्तार भी किया गया।

साउथ-ईस्ट दिल्ली के डीसीपी ने बताया कि शाहीन बाग में चल रहे प्रदर्शन वाली जगह से लोगों को हटा दिया गया है। आने-जाने के लिए रास्ते को खाली कराया जा रहा है। उन्होंने कहा, ‘इस कार्रवाई के लिए बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स बुलाई गई थी। हमने प्रदर्शन कर रहे लोगों से अपील की थी कि कोरोना वायरस के चलते लागू लॉकडाउन की वजह से यहां से हट जाएं। लेकिन उन्होंने इंकार कर दिया। इसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए उन्हें हटा दिया है।’ पुलिस ने कुछ प्रदर्शनकारियों को हिरासत में भी लिया है

हालांकि, प्रदर्शनकारियों का पुलिस पर आरोप है कि पुलिस हमसे गलत व्यवहार कर रही थी। पुलिस का हमारे साथ मारपीट की। उनका कहना था कि हमें हटाने के लिए, यह साजिश की जा रही है।

प्रदर्शनकारियों का कहना है कि हम फिर से धरना प्रदर्शन करेंगे, हम फिर से एकजुट होकर आएंगे। जब तक, कोरोनावायरस को लेकर माहौल शांत नहीं हो जाता हम लोग अपने घर में रहेंगे; उसके बाद, फिर से धरना प्रदर्शन के लिए आएंगे। हमें कोई डरा नहीं सकता, हम, CCA और NRC को नहीं मानते।

लखनऊ: लखनऊ के घंटाघर पर पिछले करीब 65 दिन से सीसीए और एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन चल रहे थे। लेकिन, कोरोना के खतरे को देखते हुए और लाकडाउन को मद्देनजर रखते हुए, घंटाघर पर प्रदर्शन देने वाली महिलाएं यह बोलकर चली जाएगी कोरोना खत्म हो जाएगा तो हम फिर से आएंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 मार्च रात 12:00 बजे के बाद, लकडॉउन की घोषणा की इस दौरान कोई भी बाहर पाया जाता है तो, उसको 1 साल की जेल हो सकती हैं।

You may also like:

is 29 April last day for earth- https://com-safe.org/is-29th-april-last-day-of-earth/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *